Best insurence plan for everyone एक ही पॉलिसी में मिलेगा जीवन बीमा, हेल्‍थ इंश्‍योरेंय और यूलिप का फायदा

Table of Contents

3 In One Insurance, Best insurence plan for everyone – एक ही पॉलिसी में मिलेगा जीवन बीमा, हेल्‍थ insurance और यूलिप का फायदा अब लोगों को जीवन बीमा पॉलिसी, हेल्‍थ इंश्‍योरेंस और यूनिट लिंक्‍ड इंश्‍योरेंस प्‍लान यानी यूलिप के लिए अलग-अलग पॉलिसी खरीदने की जरूरत नहीं पड़ेगी। बीमा कंपनियां सिंगल पॉलिसी में ही जीवन बीमा,स्‍वास्‍थ्‍य बीमा और यूलिप में निवेश का विकल्‍प देंगी। इरडा ने बीमा कंपनियां को दी कॉम्‍बो प्‍लान लॉन्‍च करने के मंजूरी दी. इसे हम 3 In One Insurance भी कह सकते हैं। दरअसल,बीमा नियामक IRDS ने इंश्‍योरेंस कंपानियां को बड़ी राहत देते हुए नियामक से स्‍वीकृति लिए बिना ग्रुप यूलिप प्‍लान और कॉम्‍बी प्‍लान लॉन्‍च करने की मंजूरी दे दी है।

इससे जल्द ही आपको एक पॉलिसी में सभी तरह के बीमा का लाभ मिलेगा। बीमा नियामक की ओर से बीमा कपंनियों को कॉम्‍बो पॉलिसी लाने की मंजूरी देने से बीमा कंपनियों को कारोबार करने में आसानी होगी और ग्राहकों को भी इसका लाभ मिलेगा। एक्‍सपटर्स कि मुताबिक,कॉम्‍बो पॉलिसी(Combo Policy) पेश करने पर बीमा कंपानियों का खर्च कम होगा और आम बीमाधारकों को भी बड़ा लाभ होगा।इससे उन्‍हें पॉलिसी खरीदने कम पैसे खर्च करने होगें।

Best insurence plan for everyone

ग्रुप यूलिप से जुड़े नियमों में किए गए बदलाव:-

पिछले साल इरडा ने बीमा कंपनियों को हेल्‍थ और जनरल इंश्‍योरेंस प्रॉडक्‍ट उसकी अनुमति के बिना लॉन्‍च करने की इजाजत दी थी। हालांकि ये नियम केवल व्‍यक्तिगत यूलिप पर लागू थे। पर अब ये नियम ग्रुप यूलिप के लिए भी लागू हो गए हैं। यानी कंपानियां प्रोडक्‍ट को बाजार में लॉन्‍च करने के बाद इरडा से मंजूरी ले सकती हैं। नियामक ने मौजूदा यूलिप उत्‍पादों में नए युनिट लिंक्‍ड फंड जोड़ने को भी इजाजत दे दी है। अलग- अलग फंड पहचान संख्‍या निकासी प्रक्रिया भी खत्‍म की है।

यूलिप के बड़े फायदे:-

  • यूलिप में इक्विटी और डेट में निवेश का विकल्‍प है।यूलिप में टर्म इंश्‍योरेंस की तरफ लाइफ कवर और म्‍यूचुअल फंड की तरह मोटा रिटर्न मिलता है। सलाना करीब 12रिटर्न मिल रहा है
  • इंश्‍योरेंस कवरेज के साथ शेयर बाजार में निवेश करने का विकल्‍प मिलने से यूलिप में एफडीपीपीएफ(FD-PPF) के मुकाबले बेहतर रिटर्न मिल रहा है।
  • पॉलिसीधारकों को इक्विटी, बॉन्‍ड और हाइब्रिड फंड(hybrid fund) जैसे विकल्‍पों के बीच स्विच करने की आजादी है, इससे यूलिप में निवेश का जोखिम भी कम हो जाता है।
  • इनकम टैक्‍स के सेक्‍शन 80सी और 10डी के तहत 2.5 लाख रूपए के निवेश पर टैक्‍स में छूट, यूलिप में निवेश पर मैच्‍योरिटी राशि भी टैक्‍सफ्री है।

इसे भी पढें –

          

Leave a Comment